What is Potential transformers in Hindi

आज के इस पोस्ट में हम आपको What is Potential transformers के बारे में बताने वाले है. तो दोस्तों Potential transformers के बारे में जानने के लिए हमारे इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े.

What is Potential transformers?

Potential transformers को PT voltage transformer के नाम से जाना जाता है. यह step down transformer होता है. जिसका turn ratio बहुत ही accurate होता है.

Potential transformers voltage को measuring instrument से मैप जाता है. इसमें primary turn बहुत ज्यादा होती है. और secondary turn में बहुत ही कम होती है.

“Potential transformers को किसी Electrical System का voltage down  करने में किया जाता है . यह Stepping Down के काम करने के लिए आता है और यह Step down Transformer की जैसा ही काम करता है”

What is Potential transformers?

Type of Potential Transformer

  • Outdoor Potential Transformers
  • Wound Type Conventional Potential Transformer
  • Capacitive Voltage Transformers

How work Potential transformers – PT कैसे काम करती है

Potential transformers high voltage को कम करके output में कम voltage को देता है. इसका इस्तमाल high transmission के लिए किया जाता है. यह इसलिए इस्तमाल किया जाता है क्योकि transmission लाइन में ज्यादा high voltage का उपयोग किया जाता है.

जैसे किसी भी volt meter से 33 किलो volt या इससे ज्यादा दो लाख 20 हजार kv इतने ज्यादा voltage को check नही कर सकता है. इस समय हम PT का इस्तमाल करके उस high voltage को कम voltage में change कर सकते है. फिर बाद में PC से निकले voltage को volt meter की मदद से mange कर लेते है.

What is PT ratio – पीटी रेश्यो क्या होता है

इसका ratio CT ratio की तहर ही लिखा हुआ होता है. PT पर भी PT ratio होता है. जिसको PT ratio कहते है. जैसे 1000/1 की 1000 ampere को एक ampere में change कर देती है. उसी तहर PT ,में ratio होता है. कोई PT है और उसका ratio 11000/110  यह PT 11000 voltage को 110 voltage में change कर output निकलती है.

voltage stabilizer kya hota hai?

CMOS kya hota hai यह कैसे काम करता है ?

What is Current Transformer?

current transformer normal current के high magnitude को नापने के लिए उपयोग किया जाता है. यह step up transformer होता है. जो current को normal ammeter से देखते है.

Current Transformer एक ऐसा devices होता है जो high current value को low current में connect करता है. इसको capacity के अनुसार HT लाइन में लगाया जाता है. और हमार जरुरत के according output मिलता है. यानि current transformer का ratio हमारी जरूरत के according select किया जा सकता है.

HT transmission लाइन से पास होने वाला current को नापने के लिए ammeter को लगाया जाता है. इसको current transformer की secondary side में connect किया जाता है.

current transformer के बारे में और जानने के लिए हमारे इस पोस्ट what is Current Transformer? को जरुर पढ़े.

CT PT difference – CT और PT में अंतर

Current TransformerPotential Transformer
CT का इस्तमाल value को नापने के लिए किया जाता है.PT का इस्तमाल voltage को नापने के लिए किया जाता है.
इस को series के साथ connect किया जाता है.इस को parallel के system के साथ connect किया जाता है.
इसकी ratio की range 1 ampere और 5 ampere तक आती है.इसकी ratio की 110 voltage में आती है.
इससे निकले हुए output parameter को ampere meter के साथ connect किया जाता है
इससे निकले हुए output को volt meter के साथ connect किया जाता है.
यह step up transformer होता है.यह step down transformer होता है.
CT PT difference – CT और PT में अंतर

तो दोस्तों हमे उम्मीद है आपको What is Potential transformers से जुडी पूरी information मिल चुकी होगी.आज के इस पोस्ट हमने आपको के बारे में पूरी जानकारी दी है. हम आशा करते  है कि आप सभी को हमारा ये पोस्ट   पसंद आया होगा. हम हमेशा यही कोशिश करते है की आप सभी को ज्यादा से ज्यादा जानकरी दे सके. इस article में हमने आपको हर प्रकार की जानकारी देने की कोशिश करी है.

इस article What is Potential transformers in Hindi को पढ़कर आपको जो हर प्रकार की information मिल जायेगी. अगर आपको इस article से related कोई भी doubts है. या आपको हमसे कुछ भी पूछना हो. तो आप लोग हमे comments कर सकते है.

अगर आपको हमारे इस पोस्ट What is Potential transformers in Hindi से कुछ भी सीखने को मिला हो. तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा facebook , twitter , Instagram etc पर जरुर share करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected by Hindi World Tech