What is Ping in Hindi

What is Ping in Hindi Ping  का नाम सुनते ही आपके मन में क्या चलता है , क्या आप भी यही सोचते हैं की Ping सिर्फ गेम्स में ही होता है। अगर आप भी ऐसा ही सोचते हैं तो आपको इस पोस्ट को पूरा पढ़ना चाहिए.

इस ब्लॉग में मैं आपको  यही बताने वाला हूँ की ping होता क्या है और कैसे काम करता है? अगर आप पहले से ही इसके बारे में जानते हैं तो बहुत ही अच्छी बात है फिर भी आप इस ब्लॉग What is Ping in Hindi को पढ़ सकते हैं आपको शायद कुछ नया सिखने को मिल जाएगा। 

What is Ping

What is Ping
What is Ping

क्यूंकि हम इस ब्लॉग (What is Ping in Hindi) के माध्यम से आसान शब्दों में यही सिखने वाले हैं की PING क्या होता है? What is Ping in Hindi Intenet या networking में Ping का क्या मतलब होता है ? यह कैसे काम करता है ? और हम कैसे अपने device पर ping test कर सकते हैं

PING क्या होता है?

Internet पर जब भी डाटा को भेजना या लेना होता है तो वो डाटा पैकेट्स की फॉर्म में भेजा जाता है और इन्ही डाटा पैकेट्स को बिना किसी error के send या receive करने में जितना भी समय (ms में ) लगता हैं | इसे ही PING कहा जाता है। 
PING का full form Packet Inter Net Gropper होता है, Ping को 1983 में IP Network की समस्या का सामाधान करने के लिए Mike Musse के द्वारा बनाया गया था | PING  किसी दो netorking माध्यम के बिच के connectivity को test करने के लिए किया जाता है। 

Ping टेस्ट  मुख्यतः दो चीज़ो की जरूरत पड़ती है, जिसमे  पहला है server जिसको  Host भी कह सकते हैं और दूसरा है Node जिसको Client भी  कह सकते हैं | इस टेस्ट से हमें यह पता चलता है की आपका Client (computer, server या अन्य device)किसी network पर किसी दूसरे device  साथ stable connectivity बना सकता है की नहीं।

जब कोई node या क्लाइंट अन्य किसी server (होस्ट) को signal/मैसेज  send करता है तो होस्ट  द्वारा मैसेज एक्सेप्ट करने के बाद नोड को फीडबैक भेजता है, इस प्रोसेस को PING Request करना भी कह सकते हैं | और पुरे प्रोसेस को करने में जो समय लगता है उसे Ping Time या PING कहते  है।
क्युकी Ping Time बहुत ही कम समय का होता है इसलिए इसे ms(milliseconds) में मापा जाता है | Ping Test से हमें यह आसानी से पता चल जाता है की आपका device किसी network server के साथ  अच्छे से कम्यूनिकेट कर पा रहा  नहीं

Ping Meaning in Hindi

Ping का हिंदी में अर्थ ध्वनि का स्पंदन होता है | यह एक स्टैंडर्ड यूटिलिटी सॉफ्टवेयर का नाम है | जिसका इस्तेमाल यह निर्धारित करने  किया जाता है की आपका कंप्यूटर या नोड किसी सर्वर से कनेक्ट है या नहीं है अगर कनेक्ट है तो उसमे विलंबता कितनी है ?
पिंग टेस्ट से  आपको यह भी पता कर सकते है की ट्रांसफर हो रहे डाटा की स्पीड की काउंट  कितनी है | पिंग टेस्ट इंटरनेट स्पीड टेस्ट के जैसा नहीं होता हैं,जिससे आप यह जान सकते हैं कि आपका इंटरनेट कनेक्शन किसी विशिष्ट वेबसाइट के लिए कितना फास्‍ट है।

How Ping Test Works – पिंग टेस्ट कैसे काम करता है

वैसे तो पिंग टेस्ट करने के लिए आपको एक कंप्यूटर की जरूरत पड़ेगी लेकिन अगर आपके पास कंप्यूटर नहीं है तो एक स्मार्टफोन की सहायता से भी आप Ping टेस्ट कर सकते हैं | सबसे पहले हम कंप्यूटर में ping test कैसे कर सकते हैं ? के बारे में जानेंगे


Ping टेस्ट में ट्रांसफर डाटा का request और response हैंडल करने के लिए ICMP protocol का इस्तेमाल किया जाता है। 
ICMP का पूरा नाम  Intenet Control Message Protocol है। जब हम Ping Test स्टार्ट करते हैं तो Node से server पर ICMP Message भेजा जाता है तब receiver आने वाले मैसेज को detect करके ICMP Ping को reply देता है। Request भेजने और लोकल डिवाइस से रिप्लाई एक्सेप्ट करने  प्राप्त करने में जो समय लगता है, उसे PING TIME कहते हैं जिसको ms (milliseconds) में प्रदर्शित किया जाता है।

Computer या laptop पर विंडोज में पिंग टेस्ट कैसे करें ?

विंडोज में ping test करना बहुत ही आसान हैं। इसके लिए विंडोज में command prompt नाम से App सिस्टम इनबिल्ट है, जिससे पिंग टेस्ट किया जा सकता है। Ping Test के लिए आपके पास कम से कम IP Address या hostname होना चाहिए।तो चलिए एक एक कर के जान लेते हैं की IP Address और hostname से कैसे अपने computer पर पिंग टेस्ट कर सकते हैं। 

1. IP Address के द्वारा कंप्यूटर से कैसे पिंग टेस्ट करें ?

जैसा की शुरुआत में मैंने आपको बताया था की अगर windows पर आप यह कर रहे हैं तो आपको अपने कंप्यूटर के Command Prompt App का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

  • command prompt कैसे open करें |

पहला तरीका :- टास्क बार के सर्च ऑप्शन Command Prompt टाइप करके सर्च करें | तो App आपके interface पर खुल जायेगा। 
दूसरा तरीका :- अपने कीबोर्ड पर window key + R बटन प्रेस कीजिये तो आपके सामने RUN command खुल जाएगा, सर्च बॉक्स में command में  ping IP Address या Hostname लिखकर Enter press कीजिये।

2. Host Name या DNS को कैसे ping करें। 

होस्ट नेम या DNS से ping टेस्ट करने के लिए पहले आपको command prompt open करना होगा उसके बाद ping syntax लिखकर test कर सकते हैं। 

ऊपर दिए गए कुछ सक्सेस्स्फुल्ली कम्प्लेटेड ping results  दिए गए हैं। इसमें कुछ ऐसे तथ्य हैं जिनको समझना जरूरी है, चलिए कुछ इम्पोर्टेन्ट परिणामों की व्याख्या कर लेते हैं। 

1.Reply From : ping test में pinging complete होने पर टारगेट कंप्यूटर से चार मैसेज की series आती है जो पिंग किये गए IP या hostname से आता है। 
2. Bytes : हर एक रिजल्ट में आपको 32 bytes का डाटा भेजी जाती है। 
3. time : Node से server में मैसेज भेजने और receive करने जो भी समय लगता है उसे पिंग टाइम कहते हैं जो टाइम millisecond में दर्शाया जाता है। 
4. TTL : TTL का full form Time to Live होता है। इससे हमें यह पता चलता है की मैसेज TTL टारगेट तक पहुंचने से पहले कितने अलग अलग नेटवर्क से होकर गुजरता है। और यह वैल्यू 1 से 128 के बिच हो सकता है। 

हमे उम्मीद है की आज का हमारा ये पोस्ट (What is Ping in Hindi) आपको पसंद आया होगा. अगर आपको हमारे इस पोस्ट (What is Ping in Hindi) से related कोई भी question हो तो हमे हमारे comment करके के बताये.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected by Hindi World Tech