What is networking devices ? नेटवर्किंग डिवाइस क्या है ? In hindi

क्या आप जानते है Networking Device क्या है ? आज के इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले What is networking devices ? नेटवर्किंग डिवाइस क्या है ? In hindi . हमारे इस पोस्ट को पूरा पढ़े.

networking-device-kya-hota-hai

What is networking devices?

network को big करने के लिए उपयोग करने वाले device को Networking Device कहते है. Networking Device एक Equipment होता है. इसके द्वारा  दो या दो से ज्यादा Computer या Electronic Device को आपस में connect किया जाता है. और  जिससे वह आपस में Data को Share करते है और communication भी करते है.

नेटवर्किंग डेविसस को सभी device के मदद से

create किया जाता है. और इसकी help से network के size को  Increase  किया जाता है. इसको Inter – Networking Device या Connecting Device भी कहते है.

type of networking devices in Hindi

Networking Device  निम्नलिखित है जैसे:-

  • Repeater 
  • Switch
  • Bridge
  • Router
  • Gateway
  • Hub

What is Repeater -रिपीटर क्या है ?

repeater एक Networking Device होता है. जो OSI model की Physical Layer पर कार्य करता है. इसका इस्तमाल transmission को बढने के लिए किया जाता है. और इसका जो single है , वो लंबी दूर तक कवल कर सके.

repeater का प्रयोग से single के weak होने से पहले Regenerate करने के लिए होता है. repeater single को Receive करता है, उसके बाद उनको Replicate और Regenerate करके send कर देता है.

repeater एक Intelligent device होता है. जो single को Regenerate तो करता है और साथ में single में present Error और Noise को solve भी करता है.

repeater दो प्रकार होते है.

  1. Analog Repeater :- यह single को amplify करता है.
  2. Digital Repeater :- यह single को Reconstruct  करके उसमे error को हटा कर आगे send कर देता है.

Repeater के Advantage क्या है ?

  • repeater में wireless or wire दोनों के प्रकार पर काम करता है.
  • यह एक प्रकार का Intelligent device होता है जिससे single को Regenerate करके single में उपस्थित Error और Noise को repair करता है.
  • इसके इस्तमाल से single को regenerate करके लम्बी दूर तक transmit किया जाता है.
  • इसके network के size को बड़ा करने पर, इसकी Performance पर कोई फर्क नहीं होता है.
  • यह बहुत simple device होता है.

Repeater के Disadvantage क्या है?

  • इसके network के traffic को filter नही कर करता है.
  • यह केवल एक ही प्रकार के protocol पर काम करता है.
  • इसके इस्तमाल से दो अलग -अलग LAN को connect नही कर सकते है. इसमें केवल  एक ही LAN के अलग-अलग segment को जोड़ा जा सकता है।

What is Switch – स्विच क्या है ?

switch एक  Networking Device होता है. यह network devices को जुड़कर रखता है. इसको multiport bridge भी कहते है. because यह एक bridge के जैसे ही काम करता है. और ये star topology में काम आती है.

ये osi model के Data Link Layer और Network Layer पर काम करता है. switch का इस्तमाल multiple computer को आपस में connect करने के लिए किया जाता है.

switch एक Intelligent device भी होता है. यह network के सभी host address को maintain करता है. और इसे maintain करने लिए इसमें memory होती है. इस address में कोनसा switch host कोन से part से connect होता है. इसमें यह सब भी store होता है.  

network में data को send करने के लिए switch first time Broadcast करता है. और सब के mac address को table में store कर लेता है . switch के पास सभी के Port Number और Hosts के Address आ जाते है . तो switch उसके ही data packet को send करता है. जिसको sender ने भेजा है .

यह एक full  Duplex Device होता है. इसमें host एक साथ data को Receive  और send करता है. switch में एक build in hardware chip रहती है. जो यह switching का काम करती है. इसकी speed भी ज्यादा तेज होती है. और यह भी ports के साथ आ जाता है .

switch में data frame के रूप में आता है और bridge के जैसा data फिल्टरिग करता है.

What is bridge – ब्रिज क्या है ?

bridge एक Networking Device होता है. यह network के segment को आपस में जुड़कर रखता है. यह data को फिल्टरिग करना काम भी करता है.

bridge data को send करने से पहले destination address को check कर लेता है. जब bridge को destination address मिल जाता है . तो यह data को send कर देता है. या तो data को transmit नही करता है.

bridge का इस्तमाल data single और traffic को maintain करने के लिए होता है. ताकि network को बड़ा कर सके. यह osi model के  Data Link Layer पर काम करता है. bridge में data एक frame के रूप में जाता है.

इसमें दो port ही होते है :-

  • आने वाला (एक incoming)
  • जाने वाले (outgoing)

What is Router – राऊटर क्या है ?

router एक Networking Device होता है. इसमें दो या दो से अधिक network को जुड़ा जाता है. router एक software होता है. जिसकी हेल्प से एक network को दूसरे network भेजा जाता है.

ये network device के अलग अलग protocols पर काम करता है. router में mac address के जगह पर ip address काम में लिया जाता है.यह mac address के base पर router data को आगे transmit कर देता है.

यह broadcast domain और collision domain दोनों पर control रहता है. यह osi model के Network Layer पर काम करता है. यह भी ip address के base पर filter करता है.

यह network address को store करता है. और यह data packet को सही port send करने ले लिए router table create करता है.

router के दो प्रकार होते है:-

  • Routed Protocol
  • Routing Protocol

Routed Protocol

यह Logical Addressing डिफाइन करते है और  Protocol Data को  Carry भी करता है . इस प्रकार के protocol को ip address दिया जाता है. जैसे AppleTalk ,IP,IPX ये सभी protocol पर Routed Protocol पर काम करते है.

Routing Protocol

इस प्रकार के Routed Protocol में एक  Path Determination करते है. जिसकी मदद से router table को update किया जाता है. जैसे OSPF ,RIP, EIGRP , IGRP etc यह भी Routed Protocol पर काम करते है.

Components of Router

router कंप्यूटर system बहुत सारे Components से जुड़कर बना है. इसके basic Components के types :-

  1. RAM
  2. ROM
  3. FLASH
  4. NV-RAM
  5. Ports

what is Gateway – गेटवे क्या है ?

गेटवे भी एक नेटवर्किंग  डिवाइस होता है. इसका काम network को अलग अलग करके आपस में connect करना होता है. यह osi model से seven layer के प्रोटोकॉल का ट्रांसफर पर काम करता है.

gateway का उपयोग LAN , mainframe computer को जोड़ना , और protocol को बदलना. gateway एक format में email को लेता है. उसी email को दुसरे format में बदल देता है.

what is hub – हब क्या है ?

hub भी एक Networking Device होता है. जिसका इस्तमाल नेटवर्किंग  डिवाइस  या कंप्यूटर को जुड़ने किया जाता है. hub osi model के physical layer पर काम करता है.

hub में बहुत सारे ports होते है. hub कोई भी एक port से आने वाले data के packet को सभी ports में send कर सकते है. ये recieving port पर depend रहते है. और यह decide करता की packet उसके काम है की नही.

hub का इस्तमाल LAN (Local area network) में different computers को hierachical और star topology में connect करने के लिए किया जाता है.

Network Hub क्या है ? Network Hub कैसे काम करता है ?

हमे उम्मीद है की आज का हमारा ये पोस्ट आप सभी को पसंद आया होगा . अगर आपको इस पोस्ट से related कोई भी question हो तो आप हमे जरुर comment करे.

Thank You

4 thoughts on “What is networking devices ? नेटवर्किंग डिवाइस क्या है ? In hindi

  • December 19, 2020 at 1:40 am
    Permalink

    You’ve made some good points there. I looked on the web for more information about the issue and found
    most people will go along with your views on this website.

    Reply
  • Pingback: What is ARPANET? - Beginner Detail

  • May 7, 2021 at 11:19 am
    Permalink

    These are genuinely wonderful ideas in regarding blogging.
    You have touched some good factors here. Any way keep up wrinting.

    Reply
  • June 3, 2021 at 4:41 am
    Permalink

    Thank you for every other informative website.
    The place else could I get that type of information written in such a
    perfect method? I have a mission that I am just now running on, and I’ve
    been on the glance out for such information.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 3 =