Types of operating system in Hindi

Types of operating system आज के इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले है की operating system के कितने type होते है. दोस्तों इसके पहले आपको यह पता होना जरुर है की operating system क्या होता है.

Types of operating system in Hindi
Types of operating system in Hindi

operating system एक प्रकार का software program ही होता है. जो computer यूजर्स और कंप्यूटर के मध्य स्थित होता है. यह Application program और computer hardware के मध्य interface की जैसा ही काम करता है.

अगर आपको नही पता है की operating system क्या होता है तो हमारे इस पोस्ट What is operating system in hindi को जरुर पढ़े. चलिए देखते है की Types of operating system in hindi

unix operating system क्या होता है?

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार – Types of operating system in Hindi

Operating System के मुख्य प्रकार:-

  1.  Batch Operating System
  2.  Simple Batch Operating System
  3.  Multiprogramming Batch Operating System
  4.  Network Operating System
  5.  Multiprocessor Operating System
  6.  Distributed Operating System
  7. Time-Sharing Operating System
  8.  Real-Time Operating System

Batch Operating System

पहले के समय में problems को दूर करने के लिए batch processing operating systems को इस्तमाल में किया गया. पहले के systems को setup करने में बहुत ज्यादा time लगता था.

batch processing systems में set up करने में ज्यादा time को कम कर दिया गया. batches में jobs को process किया जाता है . इस प्रकार के operating system को batch processing operating system कहते है.

इसमें जो similar jobs होते है. उनको processing के लिए CPU को submit कर दिया जाता है. और साथ में run किया जाता है. इन jobs को batch में automatically ही execute किया जाता है. और यह इसका main function होता है.

i) Simple Batch System

यह सबसे पुराना system है, इसमें यूजर और Computer के बिच में कोई भी Direct interaction नहीं होता था. इसके system में यूजर को Task या job को Process करने के लिए कोई भी Storage Unit में ले के आना पड़ता था. उसको Computer operator के पास submit करना पड़ता था.

ii) MultiProgramming Batch Systems

Time Sharing system भी Multiprogramming system का ही part होता है. Time Sharing System में Response Time कम होता है लेकिन Multi programming में CPU usage ज्यादा होता है.

Batch Operating System के Advantages:

1. similar jobs को Single बैच में कर देने से operator के लिए job को setup करने में काफी कम समय लगता है.

2. Automatic Job Sequencing Technique के इस्तमाल से CPU का Idle Time भी बहुत कम होता है.

3. एक से ज्यादा यूजर बैच के system को share कर सकते थे.

Batch Operating System के Disadvantages:

1.एक बार job को input देने के बाद यूजर का उससे कोई भी interaction नही होता था।

2. जब Process को Input / Output या किसी दूसरे इवेंट के लिए इंतजार करना होता है. उतने समय CPU Idle हो जाता है, जिससे उस Process को execution होने में ज्यादा समय लगता है.

2) Network Operating System

NOS का full form “Network Operating System” होता है. यह network operating system उन computers को अपना services provide करता है. जो एक network से connected होते हैं. जैसे shared file access, shared applications, और printing capabilities.

NOS एक ऐसा software होता है जो multiple computers को एक साथ communicate करने के लिए allow करता है. और files share करने के लिए भी allow करता है. और साथ में दुसरे hardware devices को भी allow करता है.

पहले के समय में Microsoft Windows और Apple operating systems को एक single computer usage और network usage के लिए design नहीं किया गया था. लेकिन जैसे ही computer networks धीरे-धीरे बढ़ने लगे और उनका उपयोग भी बढ़ने लगा, और network operating systems में भी develop होने लगे.

3) Multiprocessor System

Multiprocessor system में बहुत सारे Processors एक Common Physical Memory का उपयोग करते है. Computing power बहुत तेज होता है. यह सारे Processor एक Operating system के under काम करते हैं.

4) Distributed Operating System

Distributed Operating system उपयोग करने का एक ही मकसद यह होता है की ये दुनिया के पास powerful operating system है और microprocessor काफी Cheap हो गए हैं, साथ ही Communication Technology में काफी सुधार हो गया है.

इस advancement की वजह से अब Distributed operating system को बनाया गया है. यह काफी सस्ता होती है और दूर दूर वाले Computer को network के जरिये रोक के रखता है. जो की अपने आप में ही एक बड़ी Availability है.

Distributed Operating System के Advantages

1)  जितने भी दूर के Resources हैं उनको आसानी से उपयोग किया जाता है. जिसे Resources खाली नहीं रहते.

2)  इन से Processing बहुत Fast होती है.

3)  जो Host machine है उसके ऊपर Load कम होता है. क्यूंकि इसका Load Distribute हो ज्याता है.

5) Time Sharing Operating System

इसमें हर एक काम को सही ढंग से पूरा करने के लिए operating system के द्वारा कुछ समय provide किया जाता है. जिससे हर एक task सही ढंग से पूरा हो सके. इसमे हर एक यूजर Single system का उपयोग करता है. जिससे CPU को समय दिया जाता है. इस system को Multitasking system भी कहते है.

इसमें सारे टास्क को single user या multi user से किये जाते है.

हर एक task को पूरा करने के लिए जितना time लगता है, उसे quantum कहते है. हर टास्क को पूरा करने के बाद ही operating system फिर अगले के टास्क को शुरू कर देता है.

Time Sharing Operating System के Advantages

time-sharing operating system के advantages के विषय में जानते हैं.

1.इसमें operating system हर एक task को पूरा करने के लिए equal मौका दिया जाता है.

2. इसमें Software की duplicasy होना सहज काम नहीं होता है. जो की न के बराबर है.

3. इसमें आसानी से इसमें CPU idle time को कम किया जाता है.

Time Sharing Operating System के Disadvantages

time-sharing operating system के disadvantages के विषय में जानते हैं.

  1. इसमें Reliability का issue ज्यादा देखने को मिलते हैं.

2. इसमें सभी चीज़ों के security और integrity होती है.

3. इसमें एक common problem होती है, Data Communication का issue की.

4. Time-sharing, operating system का example हैं:- Unix

6) Real-Time Operating System

यह सबसे Advance Operating System होता है, जो real-time Process करता है. इसका मतलब है Missile, Railway ticket Booking, Satellite छोड़ते time इन सब में अगर एक Second की भी देरी सब कुछ गया पानी में तो इस Operating System बिलकुल भी Idle नहीं रहता.

यह दो प्रकार के होते है,

1. Hard Real-Time Operating System

यह operating system होता है. जो जिस time के अंदर Task Complete करने का time दिया जाता है. है उसी वक्त के अंदर काम ख़तम हो जाता है.

2. Soft Real-Time

Soft Real-Time में time की पाबन्दी थोड़ी कम होती है. इसमें एक Task चल रहा है और उसी time में कोई दूसरा Task आजाये तो नए Task को पहले Priority दिया जाती है.

Client Operating System क्या होता है?

Computer desktop एक standalone computer processing unit है. इसको लोगों के लिए automation tasks perform करने के लिए design किया गया होता है. एक desktop computer बहुत ही unique है क्यूंकि इसमें operate होने के लिए कोई भी networks या external components की जरुरत नहीं होती है

यह client operating system का ज्यादातर उपयोग computer desktops या portable devices में होता है.

उदहारण के लिए, अभी के समय में client operating systems के लिय्व  Windows® को सबसे ज्यादा इस्तमाल की जाती है.

तो दोस्तों हमे उम्मीद है आपको Types of operating system in Hindi से जुडी पूरी information मिल चुकी होगी.आज के इस पोस्ट हमने आपको के बारे में पूरी जानकारी दी है. हम आशा करते  है कि आप सभी को हमारा ये पोस्ट   पसंद आया होगा. हम हमेशा यही कोशिश करते है की आप सभी को ज्यादा से ज्यादा जानकरी दे सके. इस article में हमने आपको हर प्रकार की जानकारी देने की कोशिश करी है.

इस article Types of operating system in Hindi को पढ़कर आपको जो हर प्रकार की information मिल जायेगी. अगर आपको इस article से related कोई भी doubts है. या आपको हमसे कुछ भी पूछना हो. तो आप लोग हमे comments कर सकते है.

अगर आपको हमारे इस पोस्ट Types of operating system in Hindi से कुछ भी सीखने को मिला हो. तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा facebook , twitter , Instagram etc पर जरुर share करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected by Hindi World Tech