SMPS kya hai? यह कैसे काम करता है?

SMPS kya hai? क्या आप जानते है की SMPS kya hai? यह कैसे काम करता है? आजकल computer या laptop का उपयोग तो हर कोई करता है, लेकिन computer या laptop के अंदर भी अलग अलग part होते है. तो इन part को चलने के लिए बिजली की जरुरत पड़ती है.

SMPS kya hai
SMPS kya hai

लेकिन जो बिजली हम घरो में इस्तमाल होती है. उससे काफी कम बिजली इन part को चाहिए होती है. जैसे की TV , Fridge और iron etc. यह सभी direct 220 voltage – 240 voltage तक की बिजली उपयोग करते है.

लेकिन यही बिजली हम computer या laptop के part को direct supply करते है. तो computer या laptop के part जल जायेगे. तो computer को कितनी बिजली चाहिए. यह हम आपको आज के इस पोस्ट में बताने वाले है की computer के अंदर voltage कैसे control होता है. और यह कौन करता है. चलिए देखते है की SMPS kya hai?

smps full form

smps का full formSwitched Mode Power Supply
smps full form

full form of SMPS

full form of SMPSSwitched Mode Power Supply
full form of SMPS

SMPS kya hai? – What is SMPS in hindi

SMPS kya hai? Switched Mode Power Supply (SMPS) एक power supply unit (PSU) होती है जो switching devices का इस्तमाल करके unregulated AC या DC voltage को regulated DC में convert करता है.

जैसे हमारे घर में जो electricity supply होती है. तो वह एक alternating current (AC) होता है. लेकिन computer stable और efficient power supply की जरूरत होती है.

computer में अलग अलग components को बिजली provide करने के लिए SMPS का उपयोग किया जाता है. जो AC को constant energy में change कर देता है. जिसको direct current DC कहते है.

SMPS एक electronic circuit होता है. इन electronic devices में diodes और MOSFET जैसे capacitors , inductors और semi – conductor devices का combination शामिल होता है.

SMPS in computer – what is SMPS in computer

computer या laptop में SMPS एक hardware का part होता है. जो केस के अंदर फिट किया गया होता है. अगर आप computer को खोले तो उसके backside में एक टिन का डब्बा दिखाई देगा. SMPS का काम computer में अलग अलग part (Ram और motherboard) के लिए इस्तमाल करने के लिए बिजली देना होता है.

SMPS के प्रमुख कार्य

Functions of SMPS:

1. Electronic devices को start करने के लिए यह source से load होने तक power supply करने का काम करता है.

2. यह एक wall voltage AC power को low voltage DC power में convert करता है.

3. input voltage में electric power को regulated करके reliable output provide करता है.

4. computer में अलग अलग components में electric power की जरूरत होती है. SMPS हर part को उसकी जरूरत के हिसाव से बिजली provide करता है.

Direct current और Alternative current क्या है.

Direct current में charge का flow दोनों direction में होता है यानि यह positive से negetive और negetive से positive दोनों direction में flow होता है. Direct current में एक ही direction में इसका charge flow होता है. यानि यह positive से negetive के direction में होता है.

जैसे की आपके घर में tv और घड़ी में जो battery use होती है उस battery से DC current निकलता है. और जो हमारे घर में बिलजी supply होती है. वो alternative current होती है.

computer और laptop में DC current चलिए तो alternative current को DC current में convert करने के बाद ही devices का उपयोग किया जाता है. वही SMPS होता है.

Type of SMPS in hindi

  1. DC से DC Converter
  2. Forward Converter
  3. Flyback Converter
  4. Self Oscillating Fly back converter

DC से DC Converter

इस प्रकार के SMPS में high voltage DC और DC power source को प्राप्त किया जाता है. DC power को 15 KHz – 5 Hz की range में switch किया जाता है. फिर उसको step down transformer में रखते है. जिसकी frequency 50 Hz तक की होती है. जो transformer से output मिलता है उसको rectifier में आगे fed किया जाता है.

electric device के लिए source के रूप में इस्तमाल किया जाता है. इसमें puls width moduation का इस्तमाल करके switching power supply output को regulate करते है. और इसको switch PWM oscillator से operate किया जाता है. इससे step down transformer automatic control में आ जाता है.

इसी के कारण output को PWM से control किया जाता है. ये output voltage और PWN signals दोनों ही एक – दुसरे से inversely proportional होते है. ताकि इस duty cycle से ज्यादा होने पर maximum power को transformer से गुजरा जाता है. लेकिन अगर duty कम होता है. तो transformer में power dissipation कम होता है.

Flyback Converter

इसमें बहुत low output power होती है. यह spms circuit के compare में बहुत sample circuit होता है इसका इस्तमाल कम बिजली application के लिए किया जाता है. MOSFET की मदद से unregulated input voltage को Continuous results के साथ preferred output voltage में change किया जाता है. इसमें switching की frequency 100 KHz तक होती है.

Forword converter

यह flyback converter के तहर ही होता है. लेकिन इसमें switch को control करने के लिए अलग तरीके इस्तमाल किये जाते है. इसको DC – DC buck converter के रूप से भी जाना जाता है. इसमें transformer होता है. जिसको scaling और isolation के लिए इस्तमाल किया जाता है. अगर switch ON हो जाता है. तो transformer की primary winding के लिए input दिया जाता है.

Self Oscillating Fly back converter

यह बहुत sample और basic converter होता है. यह flyback के ऊपर काम करता है. Conduction के समय switching transistor , transfer से primary एक slope के हिसाब से बढ़ता है.

computer SMPS के प्रमुख parts

computer के अंदर कुछ प्रमुख parts जैसे:-

1. Hit sink :- यह transistor के गर्म होने पर heat को absorb करता है.

2. Transistor :- यह power को switch करता है.

3. Choke coil :- जो DC current मिलता है. यह उसको smooth करने का काम करता है.

4. Rectifier :- यह AC power को DC में convert करता है. जिसको diode कहते है .

5. Transformer :- यह आने वाली voltage को up और down करके control करता है

6. Capacitor :- यह rectifier से unregulated DC को filter करता है. और उसको smooth DC में changes करता है.

Advantages of SMPS

1. smps का weight कम होता है.

2. smps की output की range ज्यादा होती है.

3. यह बहुत कम heat निकलता है. इसकी capacity पर depend करता है.

4. यह light और small होता है.

Disadvantages of SMPS

1. smps के function बहुत ज्यादा Complex होते है.

2. इसमें एक Output Voltage होता है.

3. इसके काम को समझना मुश्किल होता है.

4. इसमें High Frequency का Electrical Noise का इस्तमाल होता है.

5. यह Step Down Regulator पर काम करता है.

तो दोस्तों हमे उम्मीद है आपको SMPS से जुडी पूरी information मिल चुकी होगी.आज के इस पोस्ट हमने आपको के बारे में पूरी जानकारी दी है. हम आशा करते  है कि आप सभी को हमारा ये पोस्ट   पसंद आया होगा. हम हमेशा यही कोशिश करते है की आप सभी को ज्यादा से ज्यादा जानकरी दे सके. इस article में हमने आपको हर प्रकार की जानकारी देने की कोशिश करी है.

इस article SMPS kya hai? को पढ़कर आपको जो हर प्रकार की information मिल जायेगी. अगर आपको इस article से related कोई भी doubts है. या आपको हमसे कुछ भी पूछना हो. तो आप लोग हमे comments कर सकते है.

अगर आपको हमारे इस पोस्ट SMPS kya hai? यह कैसे काम करता है? से कुछ भी सीखने को मिला हो. तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा facebook , twitter , Instagram etc पर जरुर share करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected by Hindi World Tech