Internet Connection Sharing kya hai?

ICS Full Form

ICS Full Form

Full Form of ICS is – Internet Connection Sharing

ICS Full Form in Hindi

ICS Ka Full Form हैं – Internet Connection Sharing / इंटरनेट कनेक्‍शन शेयरिंग

Internet Connection Sharing in Hindi

ICS Full Form Internet Connection Sharing है। ICS एक ही इंटरनेट कनेक्शन और IP Address का उपयोग करके कई कंप्यूटरों को इंटरनेट से कनेक्ट करने की अनुमति देता है। उदाहरण के लिए, एक घर में कई कंप्यूटर एक राउटर का उपयोग करके एक ही केबल या DSL Modem से जुड़ सकते हैं।

जब तक Router मॉडेम से कनेक्‍टेड है, तब तक राउटर से कनेक्‍ट हर computer internet से भी कनेक्‍ट होता है। Network Address Translation (NAT) कंप्यूटरों को समान ip address share करने की अनुमति देता है।

सॉफ्टवेयर का उपयोग करके ICS भी किया जा सकता है। विंडोज 98 और बाद में, साथ ही मैक ओएस एक्स, इंटरनेट कनेक्शन शेयरिग को सपोर्ट करते है। यह एक सिस्टम की नेटवर्क सेटिंग्स को मॉडिफाइ करने की अनुमति देता है, कंप्यूटर को गेटवे में बदल देता है।

उसी नेटवर्क के अन्य कंप्यूटर तब उस कंप्यूटर के इंटरनेट कनेक्शन का उपयोग कर सकते हैं। विंडोज यूजर्स समान परिणाम प्राप्त करने के लिए WinGate और WinProxy जैसे प्रोग्राम्‍स का भी उपयोग कर सकते हैं। हालांकि, ICS के लिए हार्डवेयर (जैसे राउटर) का उपयोग करके सॉफ्टवेयर का उपयोग करके इंटरनेट कनेक्शन शेयर करना सबसे आसान और परेशानी से मुक्त समाधान है।

Internet connection साझा करना या ICS, Windows Compute (विंडोज 98, 2000, मी, और विस्टा) की एक बिल्‍ट-इन फीचर है जो एक कंप्यूटर पर एक सिंगल इंटरनेट कनेक्शन का उपयोग करके कई कंप्यूटरों को इंटरनेट से कनेक्ट करने की अनुमति देता है।

यह एक प्रकार का Local Area Network (LAN) है, जो गेटवे (या होस्ट) के रूप में सिंगल कंप्यूटर का उपयोग करता है जिसके माध्यम से अन्य डिवाइस इंटरनेट से कनेक्‍ट होते हैं। कंप्यूटर को गेटवे कंप्यूटर पर वायर किया जाता है या एक ad-hoc वायरलेस नेटवर्क के माध्यम से वायरलेस तरीके से इसे कनेक्ट करने से ICS का उपयोग किया जा सकता है।

ICS Features

अतिरिक्त client software install किए बिना कनेक्ट करने के लिए किसी भी प्रकार के अधिकांश डिवाइस (गैर-विंडोज और पुराने विंडोज सिस्टम सहित) की अनुमति देता हैं।

VPN और इंटरनेट गेमिंग सहित कई अलग-अलग प्रोटोकॉल का उपयोग करने के लिए सभी कनेक्‍टेड क्‍लायंट के लिए सपोर्ट।

क्‍लायंट को आटोमेटिकली एक IP एड्रेस दिया जाता है और ICS कंप्यूटर के माध्यम से DNS के लिए कॉन्फ़िगर किया जाता है।

विंडोज 98 या Windows Me में, ICS को होस्ट कंप्यूटर पर Control Panel- Add/Remove Programs (विंडोज सेटअप टैब पर, Internet Tools पर डबल-क्लिक करें, फिर Internet Connection Sharing को सिलेक्‍ट करें) से एनेबल या इंस्टॉल करना होगा। Windows XP, Vista, और Windows 7 में यह बिल्‍ट-इन पहले से है (Local Area Connection के properties में Sharing टैब कि setting में “Allow other network users to connect through this computer’s internet connection”)

नोट: ICS को होस्ट कंप्यूटर के लिए एक मॉडेम (जैसे, DSL या केबल मॉडेम) या एक एयरकार्ड या अन्य मोबाइल डेटा मॉडेम से वायर्ड कनेक्शन की आवश्यकता होती है, और क्लाइंट कंप्यूटर या तो आपके होस्ट कंप्यूटर को वायर्ड करते हैं या होस्ट कंप्यूटर के माध्यम से इसे कनेक्ट करते हैं।

How to Share an Internet Connection in Windows 7

विंडोज में इंटरनेट शेयरिंग फीचर आसान है। विंडोज 7 आपके लिए इंटरनेट से कनेक्‍ट होना और अपने नेटवर्क में अन्य कंप्यूटरों के साथ इंटरनेट कनेक्शन शेयर करना आसान बनाता है। आप अपने इंटरनेट कनेक्शन में एक या अधिक कंप्यूटरों को शेयर करने के लिए अपने विंडोज 7 कंप्यूटर पर विंडोज Internet Connection Sharing फीचर का उपयोग कर सकते हैं।

Microsoft और Windows 7 आपके लिए इंटरनेट से कनेक्‍ट होना और अपने नेटवर्क में अन्य कंप्यूटरों के साथ इंटरनेट कनेक्शन शेयर करना आसान बनाता है। आप इंटरनेट शेयर करने के लिए इस दृष्टिकोण के लाभ का उपयोग कर सकते हैं कि राउटर की आवश्यकता नहीं है – हालांकि, अन्य कंप्यूटरों के लिए इंटरनेट को सफलतापूर्वक एक्सेस करने के लिए होस्ट डिवाइस (कंप्यूटर) चालू होना चाहिए।

Windows 7 इंटरनेट कनेक्शन शेयरिंग फीचर सेट करने के लिए इन चरणों का पालन करें:

Step -1

Choose Start→Control Panel→Network और Internet में जाएं। Network and Sharing Center लिंक पर क्लिक करें।

अब Network and Sharing Center विंडो ओपन होगी।

Step -2

Network and Sharing Center विंडो में, Manage Wireless Network लिंक पर क्लिक करें।

दिखाई देने वाली विंडो आपको “Manage Wireless Networks That Use (Wireless Network Connect)” का उपयोग करने देती है।”

Step – 3

Connection पर क्लिक करें और फिर Adapter Properties लिंक पर क्लिक करें।

अब Connection Properties डायलॉग बॉक्‍स ओपन होगा।

Step – 4

Sharing टैब पर क्लिक करें।

यह टैब आपको बहुत सारे विकल्प नहीं देगा।

Step – 5

Allow Other Network Users to Connect through This Computer’s Internet Connection चेक बॉक्‍स को सिलेक्‍ट करें।

Internet Connection Sharing
Internet Connection Sharing

आपको Allow Other Network Users to Control या Disable the Shared Internet Connection को भी सिलेक्‍ट करने कि आवश्यकता हो सकती हैं.

यह सेटिंग आपके नेटवर्क के अन्य लोगों को एनेबल या डिसेबल करके शेयर किए गए इंटरनेट कनेक्शन को कंट्रोल करने देती है।

OK पर क्लिक करें और फिर शेयर्ड कनेक्शन सेटिंग्स को सेव करने के लिए Manage Wireless Networks विंडो क्‍लोज करें।

इससे पहले कि वे आपके शेयर किए गए कनेक्शन का उपयोग करना शुरू कर सकें, आपके नेटवर्क पर यूजर्स को अपने टीसीपी / आईपी सेटिंग्स को कॉन्फ़िगर करने की आवश्यकता है ताकि उन्हें आटोमेटिकली एक आईपी कनेक्शन मिल सके.

हमे उम्मीद है की आज का हमरा यह पोस्ट Internet Connection Sharing kya hai? आप सभी को पसदं आया होगा अगर आपको इस पोस्ट Internet Connection Sharing kya hai? से related कोई भी doubt हो तो हमे जरुर comment करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − 16 =