History and Evolution of Computer in Hindi

History and Evolution of Computer in Hindi  लगभग 300 ई.पू. पहले का माना जाता है, जब मनुष्य Counting करने के लिये लकड़ी, पत्थर, उंगलियों और हड्डियों का इस्तमाल करते थे.

History and Evolution of Computer in Hindi
History and Evolution of Computer in Hindi

असल मे एक Calculating Device की खोज में ही मनुष्य ने Computer का अविष्कार किया. आज के इस पोस्ट में हम आपको  कंप्यूटर का इतिहास और विकास के बारे में बताने वाले है चलिए देखते है की History and Evolution of Computer in Hindi.

कंप्यूटर का इतिहास – History and Evolution of Computer in Hindi

यदि आपको computer की इतिहास के विषय में जानना है तब आपको पहले जानना होगा की बड़े numbers को इन्सान कैसे हिसाब करता था.

हिसाब करने की इस प्रक्रिया में बहुत से systems of numeration का उपयोग किया जाता है जैसे की Babylonian system of numeration, Greek system of numeration, Roman system of numeration और Indian system of numeration.

अब चलिए कुछ ऐसे ही computing devices के विषय में discuss करते हैं जिनकी इस दिशा में बड़ी योगदान है.

Calculating Machines

ऐसे mechanical devices बनाने में जिससे की बड़े numbers को count किया जा सके.

Abacus

सबसे पहला calculating device ABACUS होता है. इस को Egyptian और Chinese लोगों ने develop किया था . ABACUS का मतलब है calculating board होता है. इसमें horizontal positions में sticks होते हैं. जिसमें की छोटे छोटे आकार के pebbles को insert किया जाता है.

इसमें बहुत से horizontal bars होते हैं जिसमें हर एक में ten beads होते हैं. Horizontal bars represent करती है units, tens, hundreds, etc.

Napier’s Bones

इस को English mathematician John Napier ने सन 1617 AD में develop किया था . यह एक ऐसा mechanical device है. इसको multiplication के उद्देश्य से बनाया गया था.

Slide Rule

English mathematician Edmund Gunter ने slide rule को develop किया था. यह machine बड़ी ही आसानी से बहुत से operation perform कर सकता है जैसे की addition, subtraction, multiplication, और division.

ADDING MACHINE– BLAISE (1642 A.D)

PASCAL– PRANCE

उस समय के प्रसिद्ध French Scientist और Mathematician, Blaise Pascal ने इस machine को invent किया था जो की उस समय में केवल 19 वर्षों के ही थे. यह machine आसानी से digits को add कर सकती थी.

MULTIPLYING MACHINE- COTTFRIED LEIBNITZ- GERMANY (1692 A.D)

Gottfried ने Pascal की machine को और ज्यादा improve किया और उन्होंने ऐसी mechanism की इजात की जो की numbers की automatic multiplication करने में सक्षम था.

EARLY 1800’S JACQUARD LOOM – JOSEPH MARIE JACQUARD

वहीँ early eighteenth century में, एक French weaver Joseph Marie Jacquard ने एक ऐसा programmable loom develop किया, जजों की large cards और holes का इस्तमाल करता था, फिर उन्हें punch करता था वो भी बहुत ही control के साथ जिससे की अंत में एक pattern automatically बनकर तैयार होता था.

DIFFERENCE ENGINE– CHARLES BABBAGE– ENGLAND (1813 A.D)

वहीँ early 19th century की शुरुवाती दौर में, Charles Babbage, जो की एक Englishman, Scientist थे, उन्होंने एक ऐसी machine के development के पीछे काम किया जो की बड़ी आसानी से complex calculations perform कर सकता था.

सन 1813 A.D.में उन्होंने इस ‘Difference Engine’ का invention किया जो की बहुत ही complex calculations को perform कर सकती थी और साथ में उसे print भी कर सकती थी. यह machine एक steam-powered machine था.

computer की इतिहास हिंदी में – 19th Century

इस modern समय के Computer के इतिहास के विषय में जानते हैं जिसका development 19th century के समय में हुआ था.

Jacquard Loom

  • इसमें metal cards का उपयोग होता है .
  • इसका first stored program metal cards में हुआ था
  • यह एक पहला computer manufacturing unit था
  • इसका उपयोग बहुत जगह होता है

Difference Engine c.1822

  • यह एक बहुत ही बड़ा calculator था
  • इसके पीछे Charles Babbage(1792-1871) का बड़ा हाथ था.

Analytical Engine 1833

  • यह machine numbers को store करने में सक्षम थी.
  • इसके calculating प्रक्रिया के लिए punched metal cards का उपयोग होता था.
  • ये एक steam-powered machine था.

Ada Augusta – दुनिया के पहले Programmer थे

  • उन्होंने Charles Babbage के साथ काम किया था
  • उन्होंने Analytical Engine को भी programmed किया था

Vacuum Tubes – (1930 – 1950s)

  • First Generation Electronic Computers में Vacuum Tubes का उपयोग हुआ था
  • Vacuum tubes असल में glass tubes होते हैं जिनकी circuits iउनके भीतर ही होती है.
  • Vacuum tubes के भीतर कोई भी air नहीं होती है, जो की इसकी circuitry की रक्षा करती है.

UNIVAC – 1951

  • यह पहला commercially available computer था
  • इस को censu bureau को बेचा गया था 
  • “एक बहुत ही बड़ा pocket calculator था “

पहला Computer Bug – 1945

  • यह cards को relay कर सकता था जो की information carry करती हैं

पहला Transistor

  • यह Silicon का उपयोग करता था
  • इस सन 1948 में develop किया गया था
  • जिसके लिए इसके inventor को Nobel prize भी मिला
  • इसमें on-off switch होता है

Integrated Circuits

  • इन Integrated Circuits (chips) का इस्तमाल Third Generation Computers में हुआ था.

Electronic Computers की Generations

GenerationFirst Generation ISecond Gen IIThird Gen IIIFourth Gen IV
TechnologyVacuum TubesTransistorsIntegrated Circuits (multiple transistors)Microchips (millions of transistors)
SizeFilled Whole BuildingsFilled half a roomSmallerTiny – Palm Pilot is as powerful as old building-sized computer
Electronic Computers की Generations

हमे उम्मीद है की आपको हमारा यह लेख History and Evolution of Computer in Hindi  जरुर पसंद आया होगा.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं. तो आप हमे इसके लिए नीच comments लिख सकते हैं.

यदि आपको यह postHistory and Evolution of Computer in Hindi में पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google और Twitter etc पर share कीजिये.

Thank You

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected by Hindi World Tech