Computer Network क्या है ? और यह कितने प्रकार के होते है?

क्या आप जानते है की computer network क्या होता है ? और इसके कितने प्रकार होते है? आज हम आपको इस पोस्ट में computer network की पूरी जानकारी (in हिंदी) में बताने वाले है.

computer network kya hota hai

computer का इस्तमाल office , bank, school, collage etc में होता है. इस प्रकार computer हमारे लिए जरुरी होता है. उसी प्रकार computer के लिए network से join होना जरुरी होता है.

computer network की शुरुआत 1960-1970 में हुआ था. computer network का नाम Arpanet था.

Computer Network क्या है ?

जब दो या दो से ज्यादा device आपस में connect होकर information को share करते है .जैसे Wired या Wireless से connect किया जाता है. तो उसे ही computer network कहते है. यह पर device computer , mobile, router ,  Servers etc होते है. computer को data network कहते है.

एक या एक से अधिक computer को connect करके computer network बनाया जाता है. और इसमें device को connect किया जाता है. network से connect होने के लिए router का इस्तमाल किया जाता है. इसको जोड़ने के लिए hardware , software , wired और wireless की जरूरत होती है. computer को network से जोड़े होने के लिए protocol की सहारा लिया जाता है।

example of computer network :-Mobile network , Telephone network और Computer network.

Needs of Computer Networks

आजकल computer का इस्तमाल तो daily होता है. computer हमारे life में बहुत important होता है. network को different काम के लिए इस्तमाल किया जाता है. जैसे:-

  1. Sharing software
  2. Sharing Files
  3. Folders
  4. Data and information
  5. Sharing Network (such as network printer)

Type of computer Network

कंप्यूटर नेटवर्क अलग अलग region या area के अनुसार से ही  होते है. कंप्यूटर नेटवर्क 3 प्रकार के होते है.

  1. LAN (Local Area Network)
  2. MAN  (Metropolitan Area Network)
  3. WAN  (Wide Area Network)

LAN (Local Area Network)

कोई भी संस्था का small area और local network को LAN (Local Area Network) कहा जाता है. इस का बहुत high speed network होता है.जैसे school , collage , और Hospital  का network होता है.

इस नेटवर्क को एक organization के द्वारा से manage किया होता है. इस network में 10 km तक की range में computer को जोड़ा जा सकता है. जैसे wifi या Ethernet .

MAN  (Metropolitan Area Network)

MAN  (Metropolitan Area Network) में 100 km तक के computer को जोड़ा जा सकता है. किसी भी शहर में अलग अलग network को जोड़ा जाता है तो उसे MAN network कहते है.

इसमें एक शहर के सारे network को connect किया जाता है. जैसे school , collage और office के network आपस में link रहते है. इस नेटवर्क में local corporation और tv cable operator का ज्यादा इस्तमाल होता है.

WAN  (Wide Area Network)

WAN नेटवर्क एक बड़ा Geographical Area को cover करते है . और इसमें LAN नेटवर्क भी connect होते है. किसी भी देश के कंप्यूटर को दुसरे देश के कंप्यूटर को जोड़ा जाता है. इस नेटवर्क को WAN नेटवर्क कहते है.

इस नेटवर्क को Wire या Satellite से connect किया जाता है. इस नेटवर्क का example City Cable Network.

Part of Computer Network

कंप्यूटर नेटवर्क के बहुत सारे part होते है . जैसे :-

  • Cable
  • Server
  • Node
  • Topology
  • Nos

Cable

किसी भी computer को connect करने के लिए Lan cable का इस्तमाल किया जाता है. एक कंप्यूटर को किसी दुसरे कंप्यूटर से जोड़ने वाले cable को ही Lan cable कहते है. इस से एक कंप्यूटर से दुसरे कंप्यूटर में किसी भी प्रकार के data या information को Transfer कर सकते है.

Server

Server एक कंप्यूटर डिवाइस और कंप्यूटर प्रोग्राम होता है. जो सभी कंप्यूटर को data provide करते है. सर्वर भी कंप्यूटर ही होता है. इस के नेटवर्क में जुड़े सभी computers को control करते है.

Node

सर्वर से जो कंप्यूटर जुड़े होते है . उसको ही नोड कहते है . हर node का एक अलग address होता है . और उससे ही node की पहचान होती है. node को सर्वर से connect करने के लिए address की जरुरत होती है.

Topology

जब different प्रकार का कंप्यूटर जुड़ते है और कोई भी प्रकार की information या data को शेयर करते है . तो उसे नेटवर्क कहते है. उसी तरह एक कंप्यूटर किसी दुसरे कंप्यूटर से किस प्रकार जुड़ा है उसे network topology कहते है.

Type of Topology

नेटवर्क को बनाने के लिए इन प्रकार के topology का इस्तमाल किया होता है. जैसे:-

Bus Topology

Bus Topology में एक cable के द्वारा सभी कंप्यूटर को जुड़ा जाता है. इस नेटवर्क पर कोई एक कंप्यूटर किसी data को Transfer करता है. जो उस नेटवर्क में जुड़े सभी कंप्यूटर को data show होता है.

इसमें सारे कंप्यूटर एक line में जुड़े होते है. और इस के लिए Terminator का इस्तमाल होता है . ये Signals को भी control करके रखता है. यह एक time पर एक ही कंप्यूटर को information send कर सकता है. इसलिए इस के नेटवर्क की speed show हो जाती है.

Advantages of Bus Topology

  1. इस Topology में कम cable का इस्तमाल किया जाता है.
  2. यह Topology बहुत सस्ती होती है.
  3. इस Topology को बहुत आसानी से install कर सकते है.

Disadvantages of Bus Topology

  1. इसमें अगर कोई एक भी कंप्यूटर ख़राब हो जाता है. तो उसमे data transfer नही होता है.
  2. यह किसी भी बड़े नेटवर्क के लिए suitable नही होता है.
  3. इसकी cable की length limited होती है.

Ring Topology

इस topology के नेटवर्क में जितने भी कंप्यूटर जुड़े होते है. वो सभी कंप्यूटर एक ring की तरह जुड़े होते है. यह नेटवर्क कंप्यूटर को last कंप्यूटर से first कंप्यूटर तक जुड़ता है. इसके कंप्यूटर में starting point और ending point नही होता है.

इस नेटवर्क में speed bus topology से ज्यादा होती है. यह नेटवर्क एक circle के जैसा काम करता है. और यह data या information को एक ही देशा में flow करता है.

Advantages of Ring Topology

  1. इस topology को manage करना बहुत आसान होता है.
  2. इस topology की speed अच्छी होती है.
  3. इस topology में किसी भी कंप्यूटर से data या information को access कर सकते है.

Disadvantages of Ring Topology

  1. इस topology में Troubleshooting करना difficult होता है.
  2. इस के कंप्यूटर एक दुसरे पर dependent होते है.
  3. इस topology के नेटवर्क में अगर कंप्यूटर कम होते है तो speed अधिक हो जाती है. और अगर कंप्यूटर ज्यादा होते है तो speed कम हो जाती है.

Tree Topology

यह Topology एक पेड़ के जैसी होती है. इस Topology को भी bus Topology या star Topology के जैसा ही माना जाता है. इसमें star Topology के जैसा host कंप्यूटर होता है. और bus Topology के जैसा cable से सारे कंप्यूटर को जुड़े रहते है.

Advantages of Tree Topology

  1. इसमें easier maintenance हो जाता है.

Disadvantages of Tree Topology

  1. इसमें अगर backbone टूट जाती है तो सारा segment रुख जाता है.

Star Topology

Star Topology को बहुत ज्यादा इस्तमाल किया जाती है. इस नेटवर्क के सारे कंप्यूटर सर्वर से जुड़े रहते है . इस नेटवर्क के कंप्यूटर में अगर कोई भी खराबी आ जाती है , तो इसमें सारे कंप्यूटर chance नही करना पढ़ता है . जिस कंप्यूटर में खराबी है ,बस वही कंप्यूटर काम नही करता है. बाकि के सारे कंप्यूटर नेटवर्क से जुड़े होते है और काम करते है.

Advantages of Star Topology

  1. इस Topology में एक कंप्यूटर से host कंप्यूटर को जोड़ने के लिए cost cable कम लगाती है.
  2. इस के नेटवर्क में चलते-चलते अगर कोई भी कंप्यूटर खराब हो जाता है. तो बाकि के कंप्यूटर उस नेटवर्क से जुड़े होते है.
  3. इस Topology को बहुत आसानी से install कर सकते है.

Disadvantages of Star Topology

  1. इसमें पूरा system host कंप्यूटर पर dependent होता है.
  2. इसमें अगर host कंप्यूटर ख़राब हो जाता है, तो पूरा नेटवर्क fail हो जाता है.
  3. ये Topology use करने में Expensive होती है.

हम आशा करते है की आज का हमारा ये पोस्ट आप सभी को पसंद आया होगा . अगर इस post से related आपको कोई भी प्रशन हो , तो जरूर हमे comment करे .

Thank you

हमारे पुराने पोस्ट :- Keyboard क्या है ? keyboard की पूरी जानकारी in हिंदी

2 thoughts on “Computer Network क्या है ? और यह कितने प्रकार के होते है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

six + twelve =