Black Hat SEO और White Hat SEO क्या है?

क्या आपको Black Hat SEO और White Hat SEO के बारे में पता है? यदि नहीं तो चिंता की कोई बात नहीं क्यूंकि आज हम इन्ही के बारे में जानेंगे. आज हर कोई जो Blogging field में है उन्हें इन दोनों terms Black Hat SEO और White Hat SEO के बारे में जरुर पता होगा.

Black Hat SEO और White Hat SEO क्या है
Black Hat SEO और White Hat SEO क्या है

क्यूंकि जैसे की हम जानते हैं की SEO या Search Engine Optimization किसी भी blog के लिए कितना जरुरी है.

SEO एक ऐसा process हैं जिसकी मदद से हम अपने blog या website पर दोनों volume और quality traffic बढ़ा सकते हैं. और ऐसे में सभी Bloggers जल्द से जल्द popular हो जाना चाहते हैं क्यूंकि उनमें patience की कमी होती है.

इसलिए वो हमेशा ऐसे ही किसी tricks को ढूंडते रहते हैं जिसकी मदद से वो जल्द से जल्द अपने Blog की ranking बढ़ा सकें. ऐसे में उन्हें सबसे अच्छा विकल्प Black Hat ही नज़र आता है, क्यूंकि इसमें आपको results तुरंत मिलते हैं और आपको इंतजार करने की जरुरत नहीं. इसलिए Black Hat SEO नए bloggers को सबसे ज्यादा आकर्षित करते हैं.

ये तो हम जानते ही हैं की SEO करना किसी भी site के लिए कितना जरुरी है. और अगर आपके Blog का अच्छा SEO होगा तो आपके site का भी ranking बढेगा. क्यूंकि जितनी अच्छी आपकी Site की ranking होगी उतनी ही अच्छी site में traffic.

और जैसे जैसे search engine जैसे की google की demand बढ़ी वैसे वैसे SEO की भी एक अच्छे Internet Marketing Strategy के हिसाब से demand बढ़ी.

और ये तो हम जानते हैं की Search Engines भी किसी algorithms पर based होकर काम करते हैं. और जितनी अच्छी आपको SEO की technique होगी उतनी ही अच्छी आपके Site की ranking भी रहेगी. इसलिए नए नए SEO techniques को इस्तमाल में लाया गया जिसमें थे Black HatWhite Hat और Grey Hat SEO.

इनमें से जो सबसे ज्यादा popular हुई वो हैं Black Hat और White Hat. अगर में बात करूँ तो ये दोनों में मुख्य अंतर इनके specific SEO techniques में है, जिससे ये एक दुसरे से इतने अलग हैं. चलिए देखते है की Black Hat SEO और White Hat SEO क्या है?

Black Hat SEO vs White Hat SEO क्या है

जैसे की मैंने पहले ही बताया है इन दोनों में मुख्य अंतर इनके अलग अलग SEO techniques में है. जहाँ Black Hat SEO की अगर हम बात करें तो इनमें जो techniques का इस्तमाल होता है उन्हें search engines के द्वारा approve नहीं किया जाता है क्यूंकि ये उनकी मेह्जुदा techniques Search Engines Guidelines को follow नहीं करते हैं.

वैसे ही अगर में White Hat SEO की बात करूँ तो इसमें इस्तमाल में लाये गए techniques को Search Engines Guidelines follow करती है जिससे इनके इस्तमाल से आपको कोई तकलीफ नहीं होगी. वहीँ Black Hat SEO के इस्तमाल से आपके Site को ban भी कर दिया जा सकता है.

ऐसे मानना है की Black Hat SEO techniques और strategies से आप अपने Blog की ranking बहुत ऊँचा कर सकते हैं क्यूंकि ये Search Engines के rules को follow नहीं करती है.

ये केवल Search Engines को ही importance देती है और न की human audience को. Black Hat SEO का इस्तमाल मुख्य रूप से वही करते हैं जिन्हें बहुत जल्दी results चाहिए और जो अपने website या blogs पर long-term investment नहीं करना चाहते.

कुछ techniques जो की Black hat seo में इस्तमाल में लाया जाता है वो है keyword stuffing, link farming, hidden text और links इत्यादि. इनके इस्तमाल से आपका website Search Engines से de-indexed हो जा सकता है और आपके website को ban भी किया जा सकता है.

वहीँ White Hat SEO techniques केवल human audience को ही target करता है न की Search engines को. इन techiniques के इस्तमाल से आपको शीघ्र results नहीं मिल सकते लेकिन अगर आप एक लम्बे समय तक इनका इस्तमाल करें तो आपको बहुत ही अच्छा results देखने को मिलेंगे.

कोन ज्यादा Effective है – White Hat vs Black Hat SEO

वैसे तो हम directly ये बता नहीं सकते की Black Hat SEO और White Hat SEO में कोन ज्यादा effective है. लेकिन अगर में कम समय की बात करूँ तो Black Hat SEO ज्यादा effective है. वहीँ अगर में थोड़े लम्बे समय की बात करूँ तो इसमें White Hat SEO ज्यादा effective हैं.

ऐसा इसलिए क्यूंकि White Hat SEO मुख्य रूप से human audience को priority देता है वहीँ Black Hat SEO ज्यादा priority Search Engines को देता है. इसलिए इनके effectiveness में ये अंतर है.

Features and Techniques Used in Black hat SEO

Blackhat SEO में वो सारे techniques का इस्तमाल होता है जिसे की Search Engines से सहमति नहीं मिली है और इनका इस्तमाल करना मतलब आप इनके rules और regulation को न मानना.

इनके techniques बहुत ही unethical होते हैं और अगर कभी भविष्य में पकडे गए तब आपको इसके लिए penalty भी देनी पड़ सकती है.

Black hat SEO का इस्तमाल जल्द से जल्द success पाने के तरह है इसलिए इसका इस्तमाल हम लम्बे समय तक नहीं कर सकते. यहाँ निचे मैंने कुछ इनके features और techniques के बारे में discuss किया है जिसे पढ़कर आप इनके बारे में अच्छे से जान सकते हैं.

1. Spamdexing :- ये एक ऐसी practice है जिसमें user बार बार unrelated phrases का इस्तमाल करता है ताकि उसकी post जल्द से जल्द rank हो जाये. भले ही इस article में इस्तमाल में लाये गए phrases से viewers का कुछ फायेदा हो या न हो

2. Keyword Stuffing :- इसमें User कुछ specific keywords को article के बहुत से जगहों में जानबुझकर इस्तमाल करता है. इसका सिर्फ एक ही मकसद है की कैसे उस article को रैंक किया जाये. इससे viewers को पढने में अच्छा नहीं लगता क्यूंकि बिना की कारण के ही इसमें specific keywords का बार बार इस्तमाल किया जाता है.

3. Invisible Text :- ऐसे practice जिसमें की कुछ keywords को white text में लिखकर white background में इसतरह से रख दिया जाता है की जैसे ये ज्यादा से ज्यादा Google Spiders को अपने और आकर्षित करे.

ये text को invisible इसलिए कहा जाता है क्यूंकि ये normal viewers को दिखाई नहीं पड़ते बल्कि केवल ये Google Spiders या Search Engine Spiders को ही दिखाई पड़ते हैं.

4. Doorway Pages :- ये उन fake pages को कहा जाता है जिन्हें viewers नहीं देख सकते. इन्हें केवल Search Engine Spiders को ध्यान में रखकर बनाया गया होता है जिससे की आसानी से site की ranking बढाई जा सके और pages को जल्दी index किया जा सके.

5.Invisible iFrames :- ये कुछ ऐसे pages होते हैं जिन्हें केवल viewers ही देख सकते हैं और जिस कंपनी से hosting ली गयी है वी इसे नहीं देख सकते. जब भी कभी कोई user किसी ऐसे website पर आता है तब user को ये पता भी नहीं चलता पर बहुत से files automatically उसके computer के background में download हो रहे होते हैं.

6. Link Farming :- जैसे की अगर आप अपना घर किसी ऐसे जगह में बनाते हैं जहाँ के आस पास के लोग सही नहीं हैं तो जाहिर सी बात है की इससे आपके घर को भी उनकी मोजुदगी से जरुर असर पड़ेगा.

बस ऐसे ही बात virtual world में भी होता है. Link Farms या FFA pages का एक ही मकसद है की कोई नयी Website या blog को बहुत सारे unrelated pages के साथ जोड़ना. इनसे आपको कोई traffic तो नहीं मिलती लेकिन ऐसे होने से आपका website जरुर ban हो जायेगा.

7. Meta Keywords :- Meta Keywords वो short list है ऐसे words की जिनका इस्तमाल केवल viewers को ये बताना है की ये article किस संधार्व में लिखी गयी है.

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को Black Hat SEO vs White Hat SEO क्या है के बारे में पूरी जानकारी दी और मैं आशा करता हूँ आप लोगों को Black Hat और White Hat SEO Techniques के बारे में समझ आ गया होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected by Hindi World Tech